Wednesday, November 13, 2013

हमारा भारत...............

1378 मेँ भारत से एक हिस्सा अलग हुआ, इस्लामिक
राष्ट्र बना - नाम है इरान!
1761 मेँ भारत से एक हिस्सा अलग हुआ, इस्लामिक

राष्ट्र बना - नाम है अफगानिस्तान!
1947 मेँ भारत से एक हिस्सा अलग हुआ, इस्लामिक
राष्ट्र बना - नाम है पाकिस्तान!
1971 मेँ भारत से एक हिस्सा अलग हुआ, इस्लामिक
राष्ट्र बना - नाम हैँ बांग्लादेश!
1952 से 1990 के बीच भारत का एक राज्य
इस्लामिक हो गया - नाम है कशमीर!...
...
और अब उत्तरप्रदेश, आसाम और केरला इस्लामिक
राज्य बनने की कगार पर है!
और हम जब भी हिँदुओँ को जगाने की बात करते हैँ,
सच्चाई बताते हैँ तो कुछ लोग हमेँ RSS, VHP और
SHIV-SENA, BJP वाला कहकर पल्ला झाङ लेते
हैँ!

वन्दे मातरम
हाल की दो महत्वपूर्ण घटनाओ को देश ने
जरूर देखा होगा ------ ( 1 )
उपराष्ट्रपति हमीद अंसारी ने अपने धर्म
के महत्व को समझते हुए दशहरा उत्सव के
दौरान आरती उतारने से मना कर
दिया क्योकि इस्लाम मे ये करना " मना "
है । ( 2 ) टी॰वी॰ सीरियल बिग बॉस
की एक प्रतियोगी गौहर खान ने
दुर्गा पुजा करने से मना कर दिया और
वो दूर खड़ी रहकर देखती रही , जबकि ये
एक कार्य था जिसे
करना सभी प्रतियोगी के लिए
जरूरी था लेकिन गौहर खान ने इस कार्य
को करने से साफ मना कर
दिया क्योकि इस्लाम मे ये करना " मना "
है । मित्रो इन दोनों ( हमीद अंसारी व
गौहर खान ) को मेरा साधुवाद
क्योकि दोनों ने किसी कीमत पर भी अपने
धर्म से समझौता नहीं किया , चाहे इसके
लिए कितनी बड़ी कीमत भी क्यो न
चुकनी पड़े । ये घटना उन तथाकथित "
सेकुलर " हिन्दुओ के मुह पर जोरदार
तमाचा है जो कहते फिरते है की कभी "
टोपी " भी पहननी पड़ती है तो कभी "
तिलक " भी लगाना पड़ता है , इस घटना मे
मीडिया का मौन रहना सबसे
ज्यादा अचरज का विषय है क्योकि सबसे
ज्यादा हाय तौबा यही मीडिया वाले
मचाते रहे है जब नरेंद्र मोदी जी ने
मुल्ला टोपी पहनने से इनकार कर
दिया था । उदाहरण लेना है तो मुस्लिम
समुदाय के लोगो से सीखो जो अपने धर्म के
लिए बड़ी से बड़ी कीमत चुकाने को तैयार
रहते है , पर अपने सिद्धांतों से
कभी समझौता नहीं कर सकते । वही हमारे
हिन्दू लोग " कायरता " का दूसरा रूप "
सेकुलर " होने का झूठा दिखावा करने से
बाज नहीं आते ।
इस sms को गौर से एक बार पढ़ लो ,
अमल करो मत करो आप लोगो की मर्जी,,,,

मैंने 10 लोगो को जो की हिन्दू है उनसे पुछा.......
किस जाती के हो.....??
सभी ने अलग अलग जवाब दिया....

किसी ने कहा राजपूत
किसी ने कहा बामण
किसी ने कहा जाट
सब अलग अलग
किसी ने जैन
तो किसी ने अग्रवाल....

लेकीन मैने 10 मुसलमानो को पूछा की कौन सी जाती के हो ?
सभी का एक जवाब आया

"मुसलमान"

मूझे अजीब लगा
मैने फिर से पूछा
फिर वही जवाब आया

"मुसलमान"

तब मुझे बड़ा अफसोस हुआ
और लगा हम कीतने अलग
और वो कितने एक ... ...

कुछ समझ मै आया हो तो
आगे से कोई पूछे तो एक ही
जवाब आना चाहीये

🚩॥ हिन्दू ॥🚩

और गर्व करते हो
" हिन्दू " होने का तो इस मैसेज को इतना फैला दो यह मैसेज मूझे वापस किसी हिन्दू से ही मिले ....!

No comments:

Post a Comment

आपकी टिप्पणी के लिये अग्रिम धन्यवाद!